Class 7 Hindi Chapter 5 Mithai Wala question answer

Mithai Wala class 7 hindi chapter 5 Question and answers Ncert Solutions with free pdf download मिठाई वाला

Class 7 Hindi Chapter 5 Mithai Wala question answer

 

कक्षा – 7 हिंदी

Join

पाठ – 5  मिठाई वाला 

कहानी से 

१. मिठाईवाला अलग-अलग चीजें क्यों बेचता था और वह महीनों बाद क्यों आता था? 

उत्तर-  मिठाईवाला केवल मिठाईयां बेचना अपना व्यवसाय नहीं मानता था। वह सभी बच्चों को अपने बच्चों के रूप में देखता था। और वह उन्हें खुश देखना चाहता था। इसलिए वह अलग-अलग चीजें बेचता था। वह एक गांव से दूसरे गांव, एक शहर से दूसरे शहर सभी जगह जाता रहता था। इसलिए वह महीनों बाद ही किसी विशेष गांव या शहर में आता था। 

 २. मिठाई वाले में वे कौन से गुण थे, जिनकी वजह से बच्चे तो बच्चे, बड़े भी उसकी ओर खिंचे चले आते थे ?

उत्तर – मिठाईवाला मृदुभाषी था। वह सभी के साथ अच्छा व्यवहार करता था, और अपना सामान भी सस्ते में बेचता था। इसलिए उसके इन गुणों से प्रभावित होकर बच्चे तो बच्चे बड़े भी उसकी ओर खींचे चले आते थे। 

३.   विजय बाबू एक ग्राहक थे और मिठाई वाला एक विक्रेता।  दोनों अपने-अपने पक्ष के समर्थन में क्या तर्क पेश करते करते हैं। 

उत्तर – विजय बाबू एक ग्राहक थे, अपने पक्ष में तर्क करते हैं कि विक्रेताओं की झूठ बोलने की आदत होती है। वह सामान को महंगा देते हैं, और एहसान करते हैं, जैसे कि सस्ता दे रहे हैं।  मुरली वाला एक विक्रेता है, वह कहता है, कि चाहे  विक्रेता घाटा उठा कर ही क्यों न अपना सामान बेचे, पर ग्राहक को लगता है, कि वह उन्हें लूट रहा है। 

४. खिलौने वाले के आने पर बच्चों की क्या प्रतिक्रिया होती थी ?

Answers

उत्तर – खिलौने वाले को देखकर बच्चे पुलकित हो उठते, वे उसकी तरफ दौड़ पड़ते। किसी की टोपी गली में गिर पड़ती, किसी का  जूता पार्क में छूट जाता, और किसी-किसी का पाजामा ही ढीला होकर नीचे खिसकने लगता, इस तरह दौड़ते  हाँफते बच्चे उसको  चारों तरफ से घेर लेते, और खिलौनों का मोल भाव करने लगते।  

५. रोहिणी को मुरली वाले के स्वर से खिलौने वाले का स्मरण क्यों हो आया ?

उत्तर – मुरली वाले का स्वर रोहिणी लिए परिचित था। इससे पहले उसने इसी स्वर में यह आवाज सुनी थी। बच्चों को बहलाने वाले खिलौने वाला, यह स्वर वही था। इसलिए रोहिणी को खिलौने वाले का स्मरण हो आया। 

६. किसकी बात सुनकर मिठाईवाला भावुक हो गया था? उसने इन व्यवसायों को अपनाने का क्या कारण बताया। 

उत्तर – रोहिणी की बातें सुनकर मिठाईवाला भावुक हो गया था। उसने इन व्यवसायों को अपनाने का कारण बताया, कि वह भी नगर का एक प्रतिष्ठित आदमी था। उसके पास में धन दौलत, नौकर चाकर, सुंदर पत्नी, बच्चे सब कुछ था। घर में धन था, बाहर वैभव था। समय की गति, विधाता की लीला ऐसी है, कि आज उसके घर में कोई नहीं है। वह अपने इस कार्य से अपने बच्चों की झलक पा जाता है। उसे लगता है, कि इस तरह से वह कहीं भी जन्मे अपने बच्चों की सहायता कर रहा है। और ऐसा करने से उसे बहुत ही सुख व संतोष  मिलता है। 

 ७. ‘अब इस बार ये पैसे न लूँगा’- कहानी के अंत में मिठाई वाले ने ऐसा क्यों कहा ?

उत्तर – रोहिणी की बातों से वह भावुक हो गया था।  इससे पहले किसी ने उससे इस तरह की बातें नहीं की थी। और अपनी कहानी बताते-बताते उसे अपने परिवार का स्मरण हो आया था। जब चुन्नू और मुन्नू वहां आए तो उसे इन बच्चों में अपने बच्चों की झलक दिखाई पड़ी। इस तरह भावनाओं में भर कर उसने कहा, इस बार में यह पैसे नहीं लूँगा। 

८. इस कहानी में रोहिणी चिक के पीछे से बात करती है। क्या आज की औरतें भी चिक के पीछे से बात करती हैं ? यदि करती हैं। तो क्यों ? आपकी राय में क्या यह सही है ?

उत्तर – इस कहानी में रोहिणी चिक के पीछे से बात करती है। आज की औरतें आधुनिक हो चुकी है। वह इस तरह से किसी से बात नहीं करतीं। हाँ यहां से दूर-दराज के ग्रामीण इलाकों में ऐसा हो सकता है। वहाँ पर आज भी इस तरह पर्दे के पीछे से बात करतीं होंगी। हमारे विचार के अनुसार यह बात सही नहीं है। सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है।  

कहानी से आगे

१. मिठाई वाले के परिवार के साथ क्या हुआ होगा? सोचिए और इस आधार पर एक कहानी बनाइए ?

 कहानी के अनुसार मिठाई वाला एक संपन्न और प्रतिष्ठित आदमी था। उसका व्यवहार भी बहुत अच्छा था। उसके सुंदर पत्नी थी। छोटे-छोटे दो बच्चे भी थे। हो सकता है किसी बीमारी या महामारी में उसके बीवी और बच्चे मर गए हों। 

 इस आधार पर हमारी अपनी कहानी :-

एक आदमी था।  उसका नाम रमेश  था। वह गांव से शहर आया और उसने बहुत मेहनत की धीरे-धीरे उसने चार पांच कंपनियां स्थापित कर लीं। उसने एक अच्छा सा फ्लैट भी खरीद लिया था। वह अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बड़ी खुशी-खुशी रह रहा था। उसे किसी भी तरह का कोई भी कष्ट नहीं था। परिवार के सभी सदस्य संतुष्ट और खुश थे। एक दिन शाम के समय उन्होंने कहीं दूर घूमने का प्रोग्राम बनाया। पूरा परिवार एक गाड़ी में बैठ कर जा रहा था। रास्ता खाली था। ड्राइवर तेज गाड़ी चला रहा था। अचानक सामने से एक ट्रक आ गया। ट्रक की स्पीड बहुत ही अधिक थी। एक मोटरसाइकिल को बचाने के चक्कर में वह अपना संतुलन खो बैठा और उनकी गाड़ी को टक्कर मार दी। यह टक्कर इतनी भयंकर थी। कि उनकी गाड़ी सड़क के नीचे गड्ढे में जा गिरी और उसमें आग लग गई। पूरा का पूरा परिवार गाड़ी के साथ जल गया। वह व्यक्ति खिड़की की साइड में बैठा था। गिरते समय खिड़की खुल गई और वह गाड़ी से दूर जा गिरा, उसे कुछ चोट तो आई लेकिन उसकी जान बच गई। उसके सामने ही उसका पूरा परिवार नष्ट हो गया। बेचारा परिवार की याद में इधर-उधर घूमता रहता था। एक दिन जब वह बाजार में घूम रहा था। उसने देखा कि सड़क पर एक छोटा सा लड़का भीख मांग रहा है। कोई आदमी उसे कुछ भी नहीं दे रहा है। यह देखकर वह बहुत ही भावुक हो गया। उसने सोचा कि मैं अब अपने सारे पैसे से ऐसे ही बच्चों की सहायता करूंगा। वह इस बच्चे को अपने साथ लेकर अपने घर चला गया। उसका खूब अच्छी तरह से पालन पोषण किया। वह रोजाना बाजार जाता, उसे जहां कहीं भी कोई भी बच्चा भीख मांगता हुआ मिलता, उसके माता-पिता से अनुमति लेकर, वह उन बच्चों को अपने घर ले जाता, आज उसके पास में लगभग चार सौ बच्चे रहते हैं। वह उनकी बहुत अच्छे से परवरिश करता  है।  अच्छे स्कूल में पढ़ाता है। कुछ बच्चे बड़े होकर एक अच्छे ऑफिसर बन गए हैं। उसकी आर्थिक मदद भी करते रहते हैं। इस तरह से वह एक अच्छा बड़ा अनाथालय चला रहा है। और जीवन में खुश है। उसे संतोष है, कि उसका अपना परिवार तो नष्ट हो गया, लेकिन  उसके परिवार में चार सौ बच्चे हैं। 

२. हॉट-मेले, शादी आदि आयोजनों में कौन-कौन सी चीजें आपको सबसे ज्यादा आकर्षित करती हैं ? उनके सजाने-बनाने में किसका हाथ होगा ? उन चेहरों के बारे में लिखिए। 

     हॉट-मेले, शादी आदि आयोजनों में बहुत सारी चीजें होती हैं जो हमें आकर्षित करती हैं। सबसे ज्यादा आकर्षित लाइट करती हैं। वहां पर रखी हुई सुंदर वस्तुएं, झालर आदि हमें बहुत ही आकर्षित करती हैं। इनको बनाने वाले आम आदमी ही होते हैं।  प्रायः वह गरीब आदमी होते हैं। और सारे दिन काम करते रहते हैं। उनको देख कर हमें गरीब मजदूरों की याद आने लगती है। उनके चेहरे खुश नहीं होते, उनके चेहरों से उदासी झलकती है। उनके चेहरे पर थकान, निराशा व परेशानी के भाव दिखाई पड़ती हैं। 

३. इस कहानी में मिठाईवाला दूसरों को प्यार और खुशी देकर अपना दुख कम करता है। इस मिज़ाज की और कहानियां’, कविताएं ढूढ़िए और पढ़िए। 

(स्टूडेंट यह प्रश्न 3 आपको अपने आप करने के लिए छोड़ा जाता है इसमें आप अपनी कल्पना करें अथवा इंटरनेट की मदद से स्वयं कर सकते हैं।)

Free Pdf Class 7 Hindi Chapter 5 Mithai Wala :-

To see our Youtube Channel Pgrms Click Here

Class 7 Hindi Vasant All Chapters:-

Related searches
class 7th hindi chapter 5 question answer
class 7 hindi chapter 5 pdf
class 7 hindi mithaiwala question answer
class 7 hindi chapter 5 extra questions
class 7 hindi mithaiwala extra question answer
class 7 hindi mithaiwala pdf

Answers

Leave a Comment

Your email address will not be published.